ब्रह्माकुमारीज रोहित नगर भोपाल सेवाकेन्द्र में दादी प्रकाशमणी जी की पुण्यतिथि विश्व बंधुत्व दिवस के रूप में मनाई गई

ब्रह्माकुमारिज रोहित नगर भोपाल सेवाकेन्द्र में दादी प्रकाशमणी जी की पुण्यतिथि विश्व बंधुत्व दिवस के रूप में मनाई गई
दादी जी को भावभीनी श्रद्घांजलि
दादी प्रकाशमणी के बताए आदर्शों पर चलना ही उनको सच्ची श्रद्घाजंलि बी.के.डॉ.रीना दीदी…….
भोपाल, 25 अगस्त : प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्व विद्यालय की पूर्व मुख्य प्रशासिका दादी प्रकाशमणि को उनकी तरहवीं पुण्यतिथि पर रोहित नगर भोपाल सेवाकेन्द्र पर स्नेहपूर्ण श्रदांजलि दी गई। इस अवसर पर रोहित नगर सेवाकेन्द्र प्रभारी बी.के डॉ.रीना दीदी ने कहा कि दादी जी के आदर्शों पर चलकर उनकी शिक्षाओं को जीवन में अपनाने का पुरूषार्थ करना ही उन्हें सच्ची श्रद्घाजंलि होगी। ब्रह्माकुमारिज रोहित नगर सेवाकेन्द्र में दादी प्रकाशमणी जी की पुण्यतिथि विश्व बंधुत्व दिवस के रूप में मनाई गई |
उन्होने दादी प्रकाशमणि की सेवाओंको याद करते हुए कहा कि पहले ब्रह्माकुमारी संस्थान की सेवाएँ सिर्फ भारत तक ही सीमित थी। दादी जी ने अपने अथक प्रयासों से संस्थान की सेवाओं को सारे विश्व में फैलाया। उनकी सेवाओं को देखते हुए उन्हें संयुक्त राष्ट्र द्वारा शान्तिदूत पदक प्रदान कर सम्मानित किया गया था। दादी जी ने हमें सिखलाया कि संगठन में एक दो को सम्मान देकर और सभी की विशेषताओं को महत्व देकर कैसे संगठन को मजबूत किया जा सकता है।
दादी प्रकाशमणि ने यह सिद्घ कर दिया कि नारी यदि अपनी शक्तियों को पहचान ले तो वह दुर्गा, काली और शीतला बन अपना ही नहीं वरन् समूचे जगत को विकारों और आसुरियत की दलदल से मुक्त करने में अहम भूमिका निभा सकती है। दादी जी के व्यक्तित्व का ही कमाल था कि माउण्ट आबू में ब्रह्माकुमारी संस्थान के परिसर में पहुंचकर सभी को यह सुखद अहसास होता था कि मानों हम स्वर्ग में आ गए हों। अपने घर से भी अधिक अपनापन वहाँ पर अनुभव होता था।
दादी जी कर्मयोगी थी,और महिला सशक्तिकरण की अनुकरणीय मिसाल थी। दादी जी में नेतृत्व की अपार क्षमता थी। उनके अन्दर नेतृत्व के साथ-साथ मातृत्व का भी असीम भाव था। उनकी मन:स्थिति इतनी उँची हो चुकी थी कि किसी की कमी-कमजोरी, जाति-पाँति, धर्म आदि का भेदभाव उनको कभी छू तक नहीं पाया।
   निमित्त,निर्मान,निर्मल वाणी हो,
   सबका भला हो, सब सुख पाएं।

Rakhi News from Gulmohar Colony – Bhopal- कोरोना काल में आध्यात्मिक रूप से मनाएं रक्षाबंधन

कोरोना काल में आध्यात्मिक रूप से मनाएं रक्षाबंधन -ब्रह्माकुमारीज बहनों की सभी देशवासियों से अपील
भोपाल, । वैश्विक महामारी कोरोना की वजह से इस बार सभी तीज-त्योहारों को पारंपरिक रूप से मनाने में कठिनाई आ रही है। ऐसे में ब्रह्माकुमारीज बहनें इस बार आध्यात्मिक रूप से रक्षाबंधन का पावन पर्व मनाने जा रही हैं। साथ ही उन्होंने देशवासियों से भी आध्यात्मिक रूप से रक्षाबंधन मनाने की अपील की है। राजधानी भोपाल में ब्रह्माकुमारीज के गुलमोहर सेवा केंद्र पर बहुत सुंदर व दिव्य स्वमानों की राखियां तैयार की गई हैं। जहां ब्रह्माकुमारीज बहनों ने सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए भाइयों को सेनेटाइजर,मास्क और सुंदर वरदान दिए।
गुलमोहर सेवा केंद्र प्रभारी बी.के. डॉ.रीना बहन ने रक्षाबंधन का आध्यात्मिक रहस्य बतलाते हुए तिलक, रक्षासूत्र, मिठाई, नारियल का महत्व के बारे में भी बताया। साथ ही उन्होंने कोरोना को पराजित करने के टिप्स दिए। बी.के रीना बहन ने एसएमएस (सोशल डिस्टेंसिंग, मास्क और सेनेटाइजर)का प्रयोग कर सुरक्षित रहने की अपील की है। क्योंकि हम सुरक्षित तो घर सुरक्षित और घर सुरक्षित तो जग सुरक्षित।
तिलक: रक्षाबंधन पर बहन भाई के माथे पर तिलक लगाती है, जो की विजय का प्रतीक होता है। इस वर्ष हम स्वयं ही स्वयं को इस स्वमान का तिलक लगाएं कि मैं इस कोरोना काल में बाहर से आने वाली हर परिस्थिति पर विजय पाने वाला परमात्मा का विजयी रत्न हूं। इस स्वमान में स्थित होने के लिए ब्रह्माकुमारीज सेंटर के भाई बहनों ने 5 मिनट ध्यान केंद्रित कर योगाभ्यास भी किया। साथ ही सभी से ध्यान केंद्रित कर इस स्वमान में स्थित होने की अपील भी की।
रक्षासूत्र: बहन अपने भाई की कलाई पर रक्षा सूत्र बांधती है, जो भाई के लिए एक कवच का कार्य करता है। इस वर्ष हर मनुष्य अपने मन में पॉजिटिव संकल्पों का रक्षा कवच बांध ले। स्वयं को यह अनुभव कराएं कि जिस प्रकार कवच के अंदर कर्ण सुरक्षित था, उसी प्रकार मैं परमात्मा की छत्रछाया में पलने वाला विशेष रत्न हूं। जिसके अंदर कोई भी निेगेटिव विचार प्रवेश कर नहीं सकता। इसके लिए विशेष समय निकालकर प्राणायाम करने की सलाह दी गई है।
मिठाई: रक्षाबंधन पर बहन भाई का मुंह मीठा कराती है। तो हम सब पूरे देशवासी इस वर्ष सात्विक शुद्ध अन्न से स्वयं का मुख मीठा करने का प्रण लें।
नारियल: बहन भाई को नारियल भी भेंट में देती है, तो इस समय हम यह महसूस करें कि परमात्मा ने हमें यहां सुंदर प्रकृति भेंट में दी हुई है। यह विश्व ग्लोब मेरे सामने है और मैं इस ग्लोब पर रहने वाले हर मनुष्य को शुभ विचारों के संकल्पों से भरपूर कर रहा हूं।

कोरोना सेवा समाचार – मजदूर दिवस पर भोपाल कोरोना रेड जोन में ब्रह्माकुमारीज द्वारा श्रमिकों का सम्मान |

Bhopal – Dr. BK Reena Honoured with “Swachhta & Paryavaran Mitra Award” – बी.के.डा. रीना बहन स्वच्छता एवं पर्यावरण मित्र सम्मान से सम्मानित

भोपाल – ब्रह्माकुमारीज गुलमोहर सेवाकेन्द्र प्रभारी बी. के. डा. रीना बहन को राजधानी भोपाल स्थित रवीन्द्र भवन में आयोजित भव्य कार्यक्रम में काम्पिस्ट स्वच्छता एवं पर्यावरण मित्र सम्मान से सम्मानित किया गया। यह सम्मान उनके द्वारा की गई सेवाओं के उपरान्त दिया गया। बी. के डा. रीना बहन के नेतृत्व में ब्रह्माकुमारीज गुलमोहर कालोनी भोपाल द्वारा भोपाल में सरकारी और गैर सरकारी संस्थानों स्कूल, कालेज, पार्क, सी.आर.पी.एफ., आर.ए.एफ., थाना ऐसे कई जगहों पर 26000 से अधिक पौधे लगाए गए।

कार्य्रक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्य मंत्री भ्राता दिग्विजय सिंह, विख्यात राजनीतिज्ञ एवं समाजसेवी गोविंद गोयल जी उपस्थ्ति थें । कार्यक्रम की अध्यक्षता भोपाल ज़ोन की संचालिका बी.के.अवधेश बहन जी नें की । कार्यक्रम में मध्यप्रदेश शासन के सहकारिता, संसदीय कार्य एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डाॅ. गोविंद सिंह उपस्थित थे। कार्यक्रम कें पूरे मध्यप्रदेश से सैकड़ों हस्तियां उपस्थित थीं ।