“Role of Media in Spiritual Life” one day seminar at Brahma Kumaris Rohit Nagar center, Bhopal

Sri Sudesh Gaur, Head of “Nai Duniya Madhya Pradesh” spoke in a dialogue organised by Brahma Kumaris , Rohit Nagar Centre, Bhopal on the topic “Role of Social Media in spiritual Life”. Other distinguished speakers in the dialogue were Sri Gaurav Sharma of India News Madhya Pradesh, Smt Gunjan ji, High Court Advocate, Sri Pankaj Adhikari of Patrika Samuh, Sri Pushpendra Pal , Sr Media Officer who put their ideas on the topic.

Brahma Kumari Dr  Reena emphasized that Social Media is playing a important role in bringing spiritual revolution in the society due to it’s qualities but one should not be intoxicated. Social media is a blessing if used in a controlled way. Everyone  experienced Rajayoga Meditation as well.

8

 

 

भोपाल 4 फरवरी 2018 –
ब्रम्हाकुमारीज के रोहित नगर सेवाकेन्द्र शाखा में आध्यात्मिक जीवन में सोशल मीडिया की भूमिका परिसंवाद संपन्न हुआ । कार्यक्रम में अनेक अनुभवी वक्ताओं ने अपने विचार प्रस्तुत किये । अनेक नामचीन मीडिया हस्तियों ने कार्यक्रम में बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया एवेम विषय पर अपने बहुमूल्य विचार एवं सुझाव रखे ।
कर्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए नई दुनिया मध्यप्रदेश प्रदेश प्रमुख श्री सुदेश गौर जी कहा कि सोशल मीडिया आध्यात्मिक जागृति लानें में महत्वपूर्ण कार्य कर रहा है। आध्यात्मिक क्षेत्रों के गुरू एवं संस्थाएं ज्ञान के प्रचार प्रसार हेतु सोशल मीडिया का उपयोग कर रही हैं। परंतु इसके साथ ही सावधान रहनें की भी आवश्यकता है।
कर्यक्रम में पत्रिका समूह के संपादक श्री पंकज श्रीवास्तव जी, नें अपने विचार ब्यक्त करते हुए कहा कि सोशल मीडिया के कारण भारत के योग का दुनियाभर में प्रचार प्रसार हो रहा है। सोशल मीडिया को एक अनपढ़ ब्यक्ति भी प्रयोग कर सकता है। अतः श्रेष्ठ ज्ञान के प्रचार प्रसार हेतु आध्यात्मिक लोगों एवं संस्थाओं को सोशल मीडिया से जुड़ना ही चाहिए।
कर्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए वरिष्ट मीडिया अधिकारी श्री पुष्पेन्द्र पाल जी नें कहा कि सोशल मीडिया की कुछ खूबियां हैं जो मीडिया के किसी माध्यम में नहीं है। जैसे सोशल मीडिया फास्ट है। एक क्षण में आपका संदेश विश्व के किसी कोने में पहुंच सकता है। सोशल मीडिया मेें ब्यक्ति से ब्यक्ति सीधे संपर्क कर सकता है। साथ ही आपके भेजे संदेश में त्वरित फीडबैक प्राप्त होता है। सोशल मीडिया में आप अपने संदेश को एडिट कर सकते है या डिलीट कर सकते हैं।

कर्यक्रम में अपने विचार व्यक्त करते हुए ब्रम्हाकुमारीज सेवाकेन्द्र प्रभारी बी. के. डा. रीना बहन नें कहा की सोशल मीडिया अपनी खूबियों के कारण समाज में आध्यात्मिक क्राति लानें में एक महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर सकता है। परंतु हमें सोशल मीडिया की लत नहीं लगनी चाहिए। यदि हम संयमित हो सोशल मीडिया का उपयोग करें तो यह आध्यात्मिक सेवा के लिए वरदान सिद्ध हो सकता है। आपने आगन्तुको को राजयोग की अनुभूति भी कराई

कार्यक्रम में इंडिया न्यूज मध्यप्रदेश के श्री गौरव शर्मा जी, उच्चतम न्यायालय एडवोकेट एवं समाजसेवी श्रीमती गुंजन जी नें अपने ओजस्वी विचार ब्यक्त किए।
कार्यक्रम में श्री मध्य प्रदेश शासन के पूर्व अतिरिक निदेशक देवेन्द्र जोशी जी ने आगंतुकों का स्वागत किया ।
कार्यक्रम का कुशल संचालन बी. के. रावेन्द्र भाई नें किया।

Rajyoga Shivir

संसार का हर मनुष्य सुख–शांति की तलाश में रोज मंदिर, मस्जिद, चर्च, गुरूद्वारे में गुहार लगा रहा है। पूजा, पाठ, आरती, व्रत, उपवास, तीर्थ आदि धक्के खा खाकर इंसान थक गया है लेकिन सुख शांति आज भी कोसों दूर है.. बल्कि दुख, अशांति बढ़ती जा रही है, इसका एकमात्र कारण है देह अभिमान में वृद्धि होना और इन सब समस्याओं का एकमात्र निवारण और सुख, शान्ति का एकमात्र रास्ता स्व आत्मा का ज्ञान और परमात्मा की सही पहचान । इसी सत्य ईश्वरीय ज्ञान से और ईश्वर प्रदत्त राजयोग मेडिटेशन से सच्ची सुख, शान्ति का खजाना सहज ही मिल जाता है और सारा जीवन तनाव मुक्त होकर खुशहाल हो जाता है।”

जिसमें प्रात: 10 से 12 एवं संध्या 5 से8 बजे तक राजयोग मेडिटेशन का नि:शुल्क प्रशिक्षण दिया जायेगा